09172019051849_Apna_Swarajya.jpg

अपना स्वराज्य

Shripad Damodar Satvalekar

Anya
Downloads: 72 Views: 132
Book Details
Language: Hindi
Pages: 18
Book Scanned Quality: Good
Size: 1.007 MB
Publisher: Swadhyay Mandal Anand Ashram
Edition: N/A
Year of Publish: N/A
City: Surat
ISBN No. N/A
Web Link: http://www.vediclibrary.in/book_page.php?book_id=261
Title/Author Details
Title: अपना स्वराज्य
Category: Article
Subject: वैदिक अनुसंधान
Series Title: वैदिक व्याख्यान माला
Author: Shripad Damodar Satvalekar
Book Description

मैं कौन हूं ?  मेरी योग्यता कितनी है ? मेरा शरीर कैसा है ? मेरे शरीरके साथ मेरा क्या संबंध है ? इत्यादि अनेक प्रश्न वारंवार मनुष्यको सताते हैं । इनका उत्तर वैदिक दृष्टिकोणसे इस व्याख्यानमें देनेका यत्न किया है। आशा है कि पाठकोंको इस व्याख्यानमें इन प्रश्नोंका उचित उत्तर मिलेगा। अपने शरीरपर मेरा प्रभुत्व है, इस शरीरपर मेरा अनुशासन चलना है, दूसरेका नहीं । इस, शासनव्यवस्थाको वेदमें 'स्वराज्य' कहा है । इसलिये इस व्याख्यानका नाम 'अपना स्वराज्य' रखा है।